Latest: शादी के 17 दिन बाद दुल्हन बनी मां, प्रेमी को बचाने के लिए पिता-भाई पर दर्ज कराया था गैंगरेप का फर्जी मुकदमा | newly bride filed a fake case against father and brother to save her boyfriend

Latest: शादी के 17 दिन बाद दुल्हन बनी मां, प्रेमी को बचाने के लिए पिता-भाई पर दर्ज कराया था गैंगरेप का फर्जी मुकदमा | newly bride filed a fake case against father and brother to save her boyfriend

Unnao

oi-Rahul Goyal

|

उन्नाव। 29 दिसंबर, 2019 को एक महिला ने अपने पिता और भाई समेत 10 लोगों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया था। मंगलवार, 15 सितंबर 2020 को उन्नाव पुलिस ने इस मुकदमें का चौंकाने वाला खुलासा किया है। दरअसल, महिला ने अपने प्रेमी को बचाने के यह झूठी कहानी गढ़ी थी। इस मामले में उन्नाव पुलिस ने महिला के प्रेमी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

यूपी पुलिस की वर्दी पर लगतार बढ़ रहे हैं बदनामी के तमगे, योगी राज में क्या हो रहा है

newly bride filed a fake case against father and brother to save her boyfriend

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्नाव जिले के एक गांव की महिला की शादी लखनऊ के बंथरा क्षेत्र में हुई थी। शादी के 17 दिन बाद ही महिला ने बच्चे को जन्म दिया। इससे मायके व ससुरालीजनों में हड़कंप मच गया। मामला बढ़ा तो महिला ने 29 दिसंबर 2019 को एसपी से मिलकर आरोप लगाया था कि पिछले तीन साल से उसके पिता और भाई उससे देह व्यापार करा रहे हैं। उन्होंने खुद भी उससे दुष्कर्म किया।

इस दौरान सात माह का गर्भ ठहरने की जानकारी पर पिता ने 19 अप्रैल 2019 को उसकी शादी उन्नाव के सदर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में कर दी थी। विवाह के उसे प्रसव पीड़ा शुरू होने पर उसे ससुरालियों को सच बताना पड़ा। सच जानने के बाद ससुरालियों ने उसे एक नर्सिंगहोम में भर्ती कराया था, जहां उसने बेटे को जन्म दिया था। इतना ही नहीं, महिला का आरोप था कि बच्चे के जन्म के बाद जब ससुरालियों ने मायके पक्ष के लोगों को बुलाया तो उन्होंने ससुर को जान से मारने की नीयत से हमला कराया पर वह बच गए।

महिला थाना पुलिस महिला की तहरीर के आधार पर उसके पिता दो सगे व चचरे भाइयों समेत 10 लोगों पर सामूहिक दुष्कर्म, जान की धमकी, मारपीट समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की थी। जांच में जुटी पुलिस ने नामित लोगों से पूछताछ की और सभी का डीएनए टेस्ट कराया। मंगलवार को घटना का खुलासा करते हुए महिला थाना एसओ इंद्रपाल सिंह सेंगर ने बताया कि शादी के दो वर्ष पहले से महिला के लखनऊ के बंथरा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी दिलीप नाम के युवकसे अवैध संबंध थे।

इसी दौरान गर्भ ठहरने पर उसकी दूसरे युवक से शादी कर दी गई। शादी के 17 दिन बाद बच्चे के जन्म लेने पर महिला ने अपने गुनाह को छिपाने के लिए प्रेमी के कहने पर पिता समेत अन्य पर आरोप मढ़ दिया। आरोपी दिलीप और पीड़िता के परिवार के साथ बच्चे का डीएनए सैंपल कराया गया तो बच्चा दिलीप का निकला। इस पर आरोपी दिलीप को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

ये भी पढ़ें:- बाल संरक्षण गृह भेजी गई अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे, किशोर न्याय बोर्ड ने माना था नाबालिग

Source link

Follow and like us:
0
20

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here