Latest: प्रधानमंत्री मोदी आसियान-भारत शिखर बैठक की कर रहे सह-अध्यक्षता |

Latest: प्रधानमंत्री मोदी आसियान-भारत शिखर बैठक की कर रहे सह-अध्यक्षता |

– क्षेत्रीय नेताओं के साथ आसियान सम्मेलन ऑनलाइन शुरू, जानिए किन मामलों पर हो रही चर्चा

– 12 से 15 नवंबर के बीच होगी वर्चुअल बैठक

नई दिल्ली: गुरुवार को आसियान-भारत शिखर बैठक है। इस 17वें आसियान-भारत शिखर की बैठक भारत और 10 दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संगठन के बीच डिजिटल कॉन्फरेंसिंग द्वारा हो रही है। बताते चलें कि प्रधानमंत्री मोदी वियतनामी प्रधानमंत्री गुयेन जुआन फुक के साथ इस शिखर की सह-अध्यक्षता कर रहे हैं। यह बैठक कोरोना वायरस महामारी के कारण आए आर्थिक संकट से उबरने और रणनीतिक संबंधों को व्यापक बनाने पर केंद्रित हो सकती है।

किन मुख्य मुद्दों पर होगी चर्चा
भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस शिखर बैठक में आसियान-भारत रणनीतिक साझेदारी की मौजूदा स्थिति की समीक्षा की जाएगी और संपर्क, समुद्री मार्ग संबंधी सहयोग, व्यापार एवं वाणिज्य, शिक्षा और क्षमता निर्माण जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हुई प्रगति पर भी विचार किया जाएगा।

भारत समेत 4 देश हैं आसियान के संवाद साझेदार
दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों के संगठन आसियान को क्षेत्र का सबसे प्रभावशाली समूह माना जाता है तथा भारत, चीन, जापान और आस्ट्रेलिया इसके संवाद साझेदार हैं। यह शिखर बैठक उस वक्त हो रही है जब दक्षिणी चीन सागर और पूर्वी लद्दाख में चीन का आक्रामक व्यवहार देखने को मिल रहा है। कई आसियान देशों का दक्षिणी चीन सागर में चीन के साथ सीमा विवाद है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस शिखर बैठक में शामिल नेता आसियान-भारत के बीच संबंध को मजबूत बनाने के उपायों पर चर्चा करेंगे और आसियान-भारत कार्य योजना (2021-2025) के अनुमोदन पर भी गौर करेंगे।

10 देशों से बना है आसियान
एसोसिएशन ऑफ साउथईस्ट एशियन नेशन्स (आसियान) में इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन, सिंगापुर, थाईलैंड, ब्रुनेई, वियतनाम, लाओस, म्यामां और कंबोडिया शामिल हैं। प्रधानमंत्री मोदी पिछले साल नवंबर में बैंकॉक में हुई 16वीं आसियान-भारत शिखर बैठक में शामिल हुए थे। हर दो साल में आसियान देशों का सम्मेलन होता है जिसमें सभी देशों के आर्थिक, राजनीतिक, सुरक्षा, सामाजिक विषयों पर चर्चा की जाती है। कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार सम्मेलन का आयोजन 12 से 15 नवंबर के बीच वर्चुअल तरीके से हो रहा है।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार की बैठक में चीन, दक्षिण कोरिया और भारत के नेताओं के साथ अलग से सम्मेलन का कार्यक्रम है। आसियान के नेताओं का जापान के नए प्रधानमंत्री योशिहिदो सुगा के साथ भी यह पहला सम्मेलन होगा।

 

Source link

Follow and like us:
0
20

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here